A

2017-01-10

How Does Make Career In Meteorology In Hindi-Meteorology (Mausam) Me Career Kaise Banaye

Meteorology Science(Mausam Vigyan) Kya Hota Hain?


मौसम की ऑख- मिचौली आपको भी रोमांचित करती है और मौसम की जानकारी लोगों तक पहुचाना चाहते है, तो मेटियारोलॉजी के क्षेत्र में आइए। कॅरियर का यह क्षेत्र आपको नई ऊचाइंया देगा।
आज राजधानी में तेज धूप खिलेगी और कोलकाता में गरज के साथ बौछारें पडेंगी। उडीसा में चक्रवात या तेज आंधी की आशंका है, तो मुंबई का मौसम सुहाना बना रहेगा। पल-2 बदलते मौससम की जानकारी कौन देता है ? कहां से आपकी मिलती है सटीक जानकारी । जाहिर है, ये सारी सूचना आपको मौसम विभाग यानी मेटियोरोलॉजी डिपार्टमेंट के विशेषज्ञ बताते हैं। यहां मौसम वैज्ञानिक सेटेलाइट से खीची तस्‍वीरों और हवा के रूख के आधार पर मौसम की हर बदलती हलचल का अंदाज लगाते है और आम लोगो तक इसकी सूचना अलग-2 माध्‍यमों से पहुचाते है। चूंकि मौसम पर हमारी अर्थव्यवस्‍था टिकती है, इसलिए मौसम की सटीक जानकारी किसानों तक पहुचाने की लगातार कोशिश हो रही है । ऐसे में मौसम विज्ञानके विशेषज्ञों की मांग भी बढेगी। अगर आप भी इस क्षेत्र में रुचि रखते है, तो अपनें भविष्‍य को यहां आप बेहतर आयाम दे सकते है। मौसम विज्ञान के क्षेत्र में अगर आप कॅरियर बनाना चाहते है, तो मेटियोरोलॉजी का कोर्स करना आपके लिए फायदेमंद साबित होगा। पहले साइंस बैकग्राउंड के लोगों को इस फील्‍ड में आसानी से मौका मिल जाता था, ले‍किन अब मौसम विज्ञान के लिए स्‍पेशलाइज्‍ड मेटियोरोलॉजी का कोर्स उपलब्‍ध है। क्‍लाइमेटोलॉजी , एविशन  मेटियोरोलॉजी हाइड्रो मेटियोरोलॉजी में विशेषज्ञता हासिल करना इस फील्‍ड में आसानी से मौके दिलाएगा । इसके साथ ही साइंस, इंजीनियरिंग, एग्रीकल्‍चर,कंप्‍यूटर साइंस और इससे मिलते-जुलते विषयों में डिग्री हासिल करने वालों के लिए इस फील्‍ड में मौके उपलब्‍ध है जैसे- बैचलर इन मेटियोरोलॉजी, मास्‍टर इन मेटियोरोलॉजी, पीएचडी। जहॉ तक योग्‍यता की बात है, तो बैचलर डिग्री पाठयक्रम में दाखिले के लिए साइंस स्‍ट्रीम में 12वीं उत्‍तीर्ण होना जरुरी है। साइंस बैकग्राउंड होने से कोर्स को बेहतर तरीके से समझने में काफी मदद मिलती है। वहीं मास्‍टर डिग्री पाठयक्रम में नामांकन के लिए मेटियोरोलॉजी में बैचलर डिग्री या साइंस में बैचलर डिग्री होना जरुरी है। रिसर्च के क्षेत्र में जाने के लिए पीएचडी में प्रवेश के लिए संबंधित विशेषज्ञता में पोस्‍ट ग्रेजुएट डिग्री जरूरी है।
1.
2.
3.
4.

5.

Meteorology Ke Main University Where You Can Education

इंडियन इंस्‍टीट्यूट ऑफ ट्रॉपिकल मेटियोरोलॉजी, पुणे
www.tropmet.res.in
इंडियन इंस्‍टीटयूट ऑफ टेक्‍नोलॉजी, खडगपुर
www.iitkgp.ac.in

इंडियन इंस्‍टीटयूट ऑफ साइंस, बेंगलूरु
पंजाबी यूनिवर्सिटी, पटियाला
www.punjabiuniversity.ac.in
कोच्चि यूनिवर्सिटी ऑफ साइंस एंड टेक्‍नोलॉजी
cusat.nic.in
देवी अहिल्‍या विश्‍वविद्यालय, इंदौर
www.daunive.ac.in


New Oppotunity In Meteorology Science(Mausam Vigyan)


पहले सिर्फ कृषि कार्यो के लिए ही मौसम विभाग के भविष्‍यवाणियों की जरूरत होती थी, लेकिन ग्‍लोबल वार्मिंग के बढते दुष्‍प्रभाव और टेक्‍नोलॉजी के बढते इस्‍तेमाल की वजह से आज के समय में हर क्षेत्र में इसकी जरुरत बढ गई है। विमान सेवा, ट्रेन सेवा, समुद्री यातायात सभी कुछ मौसम विभाग की पूर्वानुमान पर ही आश्रित होगया है। पर्यवारणीय संतुलन तेजी से बिगडता जा रहा है। बाढ,सुनामी,आधी-तुफान व समुद्री तूफान जैसी हलचलों के बढते से इस क्षेत्र में विशेषज्ञों की मांग काफी तेजी से बढ गई है। आने वाले समय में कृषि को रफ्तार देने के लिए ब्‍लॉक लेवल पर मौसम विभाग के स्‍थापना के योजना पर काम चल रहा है। ऐसे में यह फील्‍ड आने वाले समय में असीमित संभावनाओं से भरा-पडा है। यानी मेटियोरोलॉजी के जानकारों के लिए हर वक्‍त मौसम विभाग में तो बेहतरीन अवसर उपलब्‍ध रहते ही है। इसके साथ ही एयरफोर्स,इंडियन स्‍पेस रिसर्च ऑर्गेनाइजेशन,स्‍पेस एप्‍्लीकेशन केन्‍द्र, डीआरडीओ,नेशनल रिमोट सेंसिंग एजेंसी में नौकरी के बेहतरीन अवसर उपलब्‍ध रहते है। इसके साथ ही देशी-विदेशी निजी कंपनियां भी अपने यहां एक्सपर्ट मेटियोरोलॉजी को भी मौके देती है।
1.
2.
3.
4.
5.

Meteorology Ke Salary Package


बैचलर डिग्री करने के बाद इस फील्‍ड में एंट्री करने पर 25 से 30 हजार रुपये प्रतिमाह की नौकरी आसानी से मिल जाता है।अगर मास्‍टर डिग्री या रिसर्च (पीएचडी) करने के बाद इस फील्‍ड में प्रवेश करते है, तो आसानी से 45-50 हजार रुपये तक का वेतन मिलेगा। अनुभव बढने पर सैलरी ग्रोथ काफी तेजी से होता है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें