यहां क्लिक करे और Bitcoin कमाये.........

इन वेबसाइट से घर बैठे पैसे कमाये, यहॉ Click करे और पैसे कमाये

Multitasking Aur Monotasking Kya Hota Hain? Aur Better Kya Hain Multitasking Ya Monotasking?

Multitasking Aur Monotasking Kya Hota Hain?


  अब सिर्फ मोनोटास्किंग
  क्या आप भी मोबाइल, लैपटॉप पर एक साथ कई काम करते है? तो इस आदत को छोड दे। एक समय मे एक ही काम करें ।
    जमाना तेेजी से बदल रहा है। लोगों की जीवन शैली और उनकी सोच बदल रही है।उनके जीने उठने बैठने काम करने का अंदाज बदल रहा है। लोग अब अपनी जिदंगी से तनाव दूर करना चाहते हैं। ऐसे मे अब ज्यादातर लोग खासकर युवा वर्ग मल्टीटास्ंिकग से मोनोटास्ंिकग को तवज्जो (अहमीयत) दे रहे हैं।
मोनोटास्किंग यानी एक समय मे एक ही काम करना। उससे पहले अधिकतर लोग एक समय मे मल्टीटास्क करना पंसद करते थे।

1.
2.
3.
4.
5.

मल्टीटास्क यानि एक समय मे तीन से चार काम कर लेना ।
     एक अध्ययन के अनुसार, जब आप एक काम को छोडकर दूसरा दूसरे को छोडकर तीसरा करते हैं, तो इससे दिन समाप्त होते-2 मस्तिष्क एवं तंत्रिका संबंधि सभी स्त्रोतों का इस्तेमाल बुरी तरीके से कर चुके होते है। अततः थकान महसूस होती है। आप भी खाना खाते समय फोन या महत्वपूर्ण फाइलो मे लगे रहते है। घर या आफिस के कामा के बीच मे सोशल मीडिया से प्रभावित होते है, तो इस आदत को छोड दे और एक बार मे कोई एक काम करने मे ही ध्यान लगाए

बेहतर और अच्छे परिणामो के लिए मोनोटास्क-
      जो लोग मल्टीटास्क करते है, वे इस बात सेे जरुर सहमत होगें कि सह माननसिक और शारीरिक रुप से थकाता है। इस स्थिति मे पसंदीदा काम करने की भी इच्छा शक्ति नही बचती। अध्ययन दर्शाता है कि मल्टीटास्क आपकी प्रोडक्टिविटी का 40 प्रतिशत तक कम कर देता है। एक काम के दौरान दूसरे काम को करने से लय गति कम होति है, ध्यान भी भटकता है। ऐसे में आप भी कोई भी काम ठीक तरीके से नही कर पातेे है। बेेहतर परिणाम पाने के लिए मोनोटास्कि से बेेहतर और कुछ नही। मोनोटास्किग आपकी ससभी शारीरिक और मानसिक क्षमता एवं उर्जा को सिर्फ एक ही काम के प्रति फोकस करने मे मदद करता है। इंसान का दिमाक एक बार में कई कार्यो को करने के लिण् न्ही बनना है। हालांकि कई लोगो का माननना है  िकवे एक समय में कई काम करके समय बचाते है, बेहतर परफार्म करते है, लेकिन हकिकत में ऐसा होता नही । किसी न किसी काम मे कुछ न कुछ ख्खामी गडबडिया और अक्षमता नजर आ ही जााती है। उउस काम को तनाव की तरफ धकेलते है। जबकि मोनोटास्किंग में न सिर्फ समय की बचत होती है, बल्कि काम जल्दी पूरा होता है,और इससे साखने-समझने की क्षमता भी सुधरती है। मोनोटास्किंग में यदि किसी एक कार्य को ध्यानपूर्वक और एकाग्रता से किया जाए, तो लाभ अवश्य मिलता है।
1.
2.
3.
4.
5.

डॉ. भावना बर्मी
सी. क्लिनिकल,साइकोलॉजिस्ट
इनके द्वारा-

बढता है आत्मविश्वास-
        मोनोटास्किंग से सारा ध्यान और फोकस एक ही काम में लगता है, जिससे आप एक काम मे मास्टर बन सकते है। उसस मे विशेषज्ञता हासिल कर सकते है। इससे आात्म-सम्मान और आत्मविश्वास बढता है। जबकि मल्टीटास्किंग में ऐेसा नही होता । हमारी उर्जा सीमित होेती है। एक साथ कई काम करने से ऊर्जा बंट जाती है। ऐसे मे आप जैक ऑफ ंऑल और मास्टर ऑफ नन हो जाते है। इससे बहुत ज्यादा तनाव और दबाव भी उत्पन्न होता है। आप मोनोटास्किंग से ही मल्टीटास्किंग कर सकते है। कहने का तात्पर्य ये है कि आप जो भी एक काम कर रहे है, उससे संबंधित अन्य कार्यो को करे। मल्टीटास्किंग से मोनोटास्किंग की तरफ शिफट होने के लिए कठीन कार्य को पहले न करें। उन क्रियाकलापों में खुद को शामिल करें, जिन्हे आप आसानी से कर सकते है। एक ससमय मे एक काम करने से सुक्ष्मता व नवीनता आती है। काम भी जल्दी पूरा होता है। दिन भर में दो या तीन बडे कार्यो से अधिक कार्य न करें। 






Multitasking Aur Monotasking Kya Hota Hain? Aur Better Kya Hain Multitasking Ya Monotasking? Multitasking Aur Monotasking Kya Hota Hain? Aur Better Kya Hain Multitasking Ya Monotasking? Reviewed by Shubham Chauhan on जनवरी 10, 2017 Rating: 5

कोई टिप्पणी नहीं:

इन वेबसाइट से घर बैठे पैसे कमाये, यहॉ Click करे और पैसे कमाये

Blogger द्वारा संचालित.