A

2017-01-10

What Is Applied Science and Pure Science? Applied Science Ya Pure Science Kya Hota Hain?


Pure Science Kya Hota Hain?


आईआईटी और दूसरे टाॅप इंजीनियरिंग काॅलेजो मे दाखिला दिलाने वाली प्रवेश परीक्षा ज्वाइंट एंट्रेंस परीक्षा में इस बार भी अगर आप क्वालिफाई नही कर पाए, तो मायुस न हो क्योकि प्योर साइंस की तरफ रास्तें और भी है, उधर अच्छा भविष्य भी है।
इंजीनियर बनने का सपना था लेकिन दो अटैम्प्ट के बावजूद जेईई परीक्षा में क्वालिफाई नही हो पाए। अब इंजीनियर बनने का ख्वाब ख्वाब ही रह गया। लेकिन ऐसा नही है कि जेईई एग्जाम क्वालिफाई नही कर पाए, तो सपनों की कोई मंजिल नही बची। दो-तीन कोशिश के बावजूद अगर आप इस परीक्षा को क्वालिफाई न कर पाए, तो निराश होने की जरुरत नही है। साइंस बैकग्राउंड में कॅरियर के और रास्ते भी है यानि इंजीनियरिंग के अलावा आप विज्ञान, गणित और सांख्यिकी के क्षेत्र में नए मुकाम पार सकते है। आप अपने पसंदीदा विषय में मेहनत करें तो दुनिया की नामचीन कंपनियों में अच्छे पद पर जाॅब के अच्छे मौके है। देश भर में कई ऐसी कंपनियां है जो बीएससी आॅनर्स या मैथ्स आॅनर्स के प्रतिभाशाली छात्रों को अच्छे पैकेज पर हायर करती है। ऐेसे में साइंस स्ट्रीम के किसी भी विषय को चुनकर आप अपपने भविष्य की नई मंजिल सेट कर सकते है। आप साइंस के छात्र है, तो यह तो बखूबी समझते होगे कि साइंस की दो मुख्य प्रकार है। पहला प्योर साइंस और दूसरा है अप्लाइड तहत विशुद्ध साइंस पढते है जिसमें लाॅजिक और गणित शामिल होता है, लेकिन साइंस के प्रैक्टिकल हिस्सा इंसमे शामिल नही होते । वही अप्लाइड साइंस में विज्ञान के नियमों के आधार पर मशीनों और उपकरणो आदि का इस्तेमाल होता है। तो अप्लाइड साइंस से चूक गण् है, तो प्योर साइंस में हाथ आजमा लीजिए।
1.
2.
3.
4.
5.

यहाॅ है मौके-
टगर आप गणित विषय में रुचि रखते है, तो इंडियन स्टैटिस्ट्रिकल इंस्टीट्यूट में देश- विदेश में नौकरियों के आकर्षक अवसर मौजूद है। यहाॅ से आप सांख्यिकीविद, मौसम वैज्ञानिक, अप्लाइड मैथमेटिक्स और अन्य वैज्ञानिक क्षेत्र में कॅरियर बना सकते है। इंडियन स्टैटिस्टिकल इंस्टिट्यूट के दिल्ली बेगलूरु, चेन्नई और तेेजपुर समेत देश भर में इसके चार संस्थान है बी स्टैटस (आॅनर्स) करने केे लिए कोई फीस नही है, बल्कि यहाॅ एडमिशन के बाद आपको छात्रवृत्ति के 3000 रुपये प्रतिमाह मिलते है। एडमिशन के लिए आपकी सिर्फ गणित विषय से संबंधित स्किल का टेस्ट लिया जाता है। बी स्टैट्स करने के बाद आप सांख्यिकी गणित, कंम्प्यूटर साइंस, अर्थशास्त्र आदि विषयों में हायर एजुकेशन प्राप्त कर सकते है।
इसके अलावा आप सांख्यिकीविद के रुप में रिसर्च संस्थान साइंटिफिक लेबोरेटरीज उद्योग और सरकारी विभागों में नौकरी कर सकते है। बी स्टैट्स (आॅनर्स) के अलावा इस संस्थान में ग्रेजुएशन स्तर पर आप बी स्टैट्स आॅनर्स ( जिसमे नवीन कोर्स भी शामिल है) बी मैथ (आॅनर्स) , बी मैथ (आॅनर्स) नवीन कोर्स कर सकते है। यहाॅ मास्टर्स और पीएचडी स्तर तक के कोर्स भी उपलब्ध है। इसी तरह के प्रोग्राम आप चेन्नई मैथेमेटिकल इंस्टीट्यूट में अप्लाई कर सकते है। यहाॅ बीएससी आॅनर्स इन मैथमेटिक्स एंड कम्प्यूटर साइंस और बीएससी आॅनर्स इन मैथमेटिक्स एंड फिजिक्स में अप्लाई कर सकते है। मैथमेटिक्स के अंतर्गत आप प्रोवेबिलिटि एंड स्टैटिक्स विकल्प को चूनकर मेडिसिन, रिसर्च के अलावा बडें-2 उद्योगो में विशेषज्ञ की भूमिका निभा सकते है।

1.
2.
3.
4.
5.

प्रोवेबिलिटी से आप रेलवे, मेट्रा, सडक निर्माण, हाइड्रो पावर प्रोजेक्ट आदि की रुपरेखा तैयार का कम खर्च में किफायती प्रोजेक्ट की प्लानिंग में अहम भूमिका अदा कर सकते है। गणित और कंप्यूटर साइंस में अपनी दक्षता के बूते आप नासा और इसरो जैसी स्पेस एजेसियो में भी जाॅब हासिल कर सकते है। इसके अलावा आपके पास लेक्चरर और प्रोफेसर बनने का भी विकल्प मौजूद है।   

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें