A

2017-02-01

टैक्‍सी को लगेंगे पंख


ट्रैफिक जाम में फंसने के दिन अब समझिए लद गए । यूरोप की विमानन कंपनी एयरबसजल्‍द ही दुनिया में उडने वाली टैक्‍सी लॉन्‍च करने जा रही है


टैक्‍सी को लगेंगे पंख





1.
2.
3.
4.
5.
 आप दुनिया के किसी भी शहर में हो टैफिक जाम का सामना तो करते ही होगें । शहरों में बेतरतीब बढते ट्रैफिक के कारण कुछ मिनटो की दूरी घंटो में तय होती है । जाम में फंसने के बाद अहसास होता है कि काश !  वाहन को पंख लग जाएं और उडकर जल्‍दी से अपनी मंजिल पर पहुच जाएं । आपको यह सपना पूरा होनेजा रहा है । एयरक्राफ्ट बनाने वाली कंपनी एयरबस जल्‍द ही हवा में उडने वाली टैक्सियां चलाने जा रही है । कंपनी का यह प्‍लान शहरों में बढते ट्रै फिक से निजात दिलाएगा । यानी जल्‍द ही दुनिया के कुछ शहरोंमें उडने वाली टैक्सियां चलेगी।
इन एयर टैक्‍सी की सबसे खास बात यह होगी कि यह बिना ड्राइवर यानी सेल्‍फ फ्लाइंग टैक्‍सी होंगी, जिन्‍हें आप उबर, ओला मेरू या सवारी कैब की तरह अपने स्‍मार्टफोन से बुक करा कर शहर के किसी भी कोने में मंगा सकेंगे ।

हवाई टैक्‍सी बोले तो

कार के आकार का यह वाहन उडने में सक्षम होगा, जिसमें एक बार में चार से पांच लोग सवार हो सकेंगे । एयरबस कंपनी के एग्‍जीक्‍यूटिव रोडिन ल्‍यासोफ के मुताबिक, कंपनी की योजना है कि शुरूआत में यह हवाई टैक्‍सी पायलट के साथ उडान भरेगी । फिर जब संबंधित शहर की अथॉरिटी इसे सैल्‍फ फ्लाइंग मोड का लाइसेंस दे देगी, तब इसे ड्राइवर लेस के तौर पर शुरू किया जाएगा ।  आने वाले सालों में लोग बढते ट्रैफिक के चलते शेयरिंग व्हिकल का महत्‍व का महत्‍व समझ जाएंगे और यह उडन टैक्‍सी भी अपनी उपयोगिता बढाने के लिए बतौर शेयरिंग व्हिकल काम करेगी । कंपनी को उम्‍मीद है कि वह इस उडन टैक्‍सी का ट्रायल अगले साल 2017 में यूनिवर्सिटी ऑफ सिंगापुर कैंपस में शुरू कर देगी और अगले दस सालों में यह लोगों के सफर के लिए तैयार खडी होगीं ।


उडेगी कैसे ?

सडक पर चलने और उडान भरने वाली इस कार में कई तरह की बैटरी, मोटर,विमान तकनीक समेत आरामदायक सफर की अत्‍याधुनिक तकनीक को एक साथ समाहित किया जाएगा ।

 क्‍यो है जरूरत
1.
2.
3.
4.
5.


एक अध्‍ययन की मानें, तो 2030 तक दुनिया की 60 फीसदी आबादी शहरों मे रहेगी । अभी दुनिया की 35 से 40 फीसदी आबादी ही शहरों में रहती है, तो ट्रैफिक के हालात इस कदर है । जब यह 60 फीसदी आबादी शहरों में आ जाएगी, तो भविष्‍य में ट्रैफिक के हालातका अंदाजा लगाया जा सकता है । ऐसे में जब सडक पर चलने की जगह नही बचेगी, तो शहरों की परिवहन प्रणाली को नए विकल्‍प तलाशने होंगे । लोकल परिवहन के लिए एयर टैक्‍सी इसकी आस बढाता है । रोडिन के मुताबिक, अगले दस सालों में कार का हवा में उडना एक साधारण बात होगी ।  नई तरह की यह परिवहन प्रणाली दुनिया के लिए एक क्रांति साबित होगी ।

किफायती होगी

अगर आप सोच रहे हैं कि उडने वाली यह टैक्‍सी सिर्फ अमीर लोगों का विकल्‍प बनेगी, तो एयरबस के इस बयान को भी पढ लें ।  कंपनी के अनुसार, इस उडने वाली टैक्‍सी की लागत सडक पर चलने वाली आम टैक्‍सी जितनी ही होगी साथ ही यह गंतव्‍य पर जल्‍दी चहंचने वाली, इको-फ्रेंडली और सुगम साबित होगी ।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें