A

2017-05-14

How To Operate Smart Home In Hindi

आपकी तरह आपका घर भी स्‍मार्ट

1 सिरी की मदद से ऑपरेट होंगे घर के सभी डिवाइस

2 प्रदूषण बढते ही खुद बंद हो जाएंगे विडो शेड्स

3 सिर्फ बोलने भर से काम करने लगेगी डिवाइस

एप्‍पल ने सबसे पहले इस टेक्‍नोलॉजी का इस्‍तेमाल अमेरिका के कुछ शहरों में किया है। इसके बाद एप्‍पल की योजना भारत सहित अन्‍य देशों में इस तकनीक को लेकर आने की है। एप्‍पल  का दावा है कि जिस तर‍ह एप्‍पल के हैंडसेट को सुरक्षा की दृष्टि से तैयार किया गया है, उसी तरह घरों को भी तैयार किया जाएगा। एप्‍पल स्‍मार्ट होम में किसी भी तरह की चोरी की गुंजाइस नही होगी।संदिग्‍ध व्‍यक्ति की पहचान होते ही आपके फोन पर तुरंत अलर्ट मिलेगा।
1.
2.
3.
4.

5.
क्‍लासरुम स्‍मार्ट हुआ, मोबाइल स्‍मार्ट हुआ, हमारी गाडी स्‍मार्ट हुई। अब बारी है घर की। एप्‍पल कंपनी ने हमारे घरों को स्‍मार्ट बनाने की तैयारी कर ली है। मोबाइल निर्माता कंपनी एप्‍पल अब आपके घर को स्‍मार्ट बनाने जा रही है। जल्‍दी ही आप एप्‍पल स्‍मार्ट होम में रहने का सुख भोग सकेंगे। एप्‍पल ने घरों को स्‍मार्ट बनाने के लिए होम किट लॉन्‍च की है, जिसकी मदद से आपके घर की हर चीज आपके इशारे पर काम करेगी। एप्‍पल ने इस तकनीक का ट्रायल शुरु कर दिया है। अब वो दिन दूर नही, जब आप अपने घर की सुरक्षा को लेकर बेफिक्र हो जाएंगे। एप्‍पल के अधिकारीयों के मुताबिक, महानगरों में घरों की सुरक्षा एक बडी समस्‍या बन गया है। ऐसे में सुरक्षित घरों का विकास करना जरूरी है। एप्‍पल स्‍मार्ट होम अति सुरक्षित घर होगें। जानने वाली बात ये है कि एप्‍पल अलग से स्‍मार्ट होम्‍स का निर्माण नही करेगा, बल्कि आपके वर्तमान घर को सेंसर, गैजेट्स और स्‍मार्टफोन की मदद से स्‍मार्ट बनाएगा। मान लीजिए आप अपने घर से दूर है और घर का पंखा खुला छोड गए है। या फिर घर का गेट लॉक करना भूल गए है, तो आप अपने आईफोन की मदद से दूर बैठे ही पंखे को बंद और गेट को लॉक कर सकेंगे। स्‍मार्ट होम में आप एक कमरे में बैठकर दूसरे कमरे में बैठकर दूसरे कमरे के टीवी को ऑपरेट कर सकेंगे। ऐसे कई सारे काम अब आपके फोन से आसानी से हो जाएंगे। आप अपने फोन की स्‍क्रीन को टच करेंगे, तो आपके घर की चीजें ऑपरेट हो जाएंगी।
1.
2.
3.
4.

5.
घरों की स्‍मार्ट बनाने के लिए एप्‍पल अपने वॉयस कमांड फीचर सिरी का इस्‍तेमाल करेगा। सिरी आईफोन यूजर्स का पर्सनल एसिस्‍टेंट होता है, जो वॉयस कमांड पर काम करता है। अगर आपको टीवी बंद करना है और रिमोट नही मिल रहा है, तो सिरी को कहना होगा प्‍लीज स्विच्‍ड ऑफ द टीवी’, इसके बाद टीवी बंद हो जाएगा। पंखा तेज करने का मन है, तो फोन से ही पंखा तेज हो जाएगा....एसी बंद करना है, तो एसी बंद, फ्रिज ऑपरेट मतलब सभी इलेक्‍ट्रानिक चीजें आपके  फोन से चलेगी। इसके अलावा घर का ताला लगाना है, तो भी आपका फोन घर का ताला लगा देगा। इन सब चीजों के लिए आपको घर पर होना जरूरी नही है, बल्कि अगर आप किसी रिश्‍तेदार के घर भी गए हुए है, तब भी आपका फोन सभी चीजें हैंडल कर लेगा। आईफोन के नए वर्जन की मदद से घर के सभी एप्‍लाइसेज को फोन से कनेक्‍ट कर दियाजाएगा। जिसके बाद आपका आईफोन यूनिवर्सल रिमोट की तर‍ह काम करेगा। इन घरो में प्रदूषण बढते ही विडो शेड्स खुद बंद हो जाएगे और आपके फोन पर अलर्ट मिलेगा । इस तकनीक को अपने घर में इस्‍तेमाल करने के लिए आईफोन 10 या उससे लेटेस्‍ट ऑपरेटिंग सिस्‍टम की आवश्‍यकता होगी। साथ ही आईफोन 4 यूजर्सके लिए इसका इस्‍तेमाल थोडा मुश्किल होगा।

एपल होम मेकर और बिल्‍डर्स के साथ मिलकर ऐसे घर बना रहा है, जो कि टेक्‍नॉलजी से पूर्ण है। जल्‍द ही जब आप घर खरीदने जाएंगे, तो आपका बिल्‍डर आपको एक ऐसा घर दिखाएगा, जो कि आपके फोन से चलता हो। इस हाईटेक यानी कि स्‍मार्ट होम की शुरुआज एपल ने अमेरिका में कर दी है और अमेरिकी लोगों को ये स्‍मार्ट होम खूब भा रहे है। अमेरिका में अब बिल्‍डर ऐसे ही घर बना रहे है, जो कि स्‍मार्टली तरीके से ऑपरेट किए जा सकते है। एपल कंपनी ने बिल्‍डरों के साथ टाइअप किया है और ऐसे घर बनाने में उनकी मदद कर रहा है। घरों को और स्‍मार्ट बनाने के लिए एपल खास सेंसर युक्‍त डिवाइस का इस्‍तेमाल कर रहा है। इस डिवाइस में तापमान को कंट्रोल करन, घर की लाइटिंग मैनेज करने की क्षमता है। ये डिवाइस ब्‍लूटूथ और वाई-फाई के जरिए फोन से जुडी रहती है। खास बात यह है कि यह बजट में आने वाली डिवाइस है जो कि एक आम आदमी आसानी से खरीद सकता है। इस डिवाइस का नुसकान यह है कि जब आपके घर में यह डिवाइस लगी होगी, तो आप किसी और होम स्‍मार्ट डिवाइस को इस्‍तेमाल नही कर सकते है। इसके अलावा इस डिवाइस में कोई कमी नहीं है।
1.
2.
3.
4.

5.
अगर सुरक्षा की बाते करें, तो अभी यह कहना थोडा मुश्किल होगा कि इससे चीजें कितनी सुरक्षित होगी। मुझे लगता है कि इस टाइप की टेक्‍नोलॉली आने से पहले हमें प्राइवेसी लॉ बनाने की जरुरत है। यूएस और यूके जैसे देशों में यह टेक्‍नोलॉजी इसलिए ज्‍यादा कारगर और सुरक्षित हो सकती है, क्‍योकि वहां के प्राइवेसी लॉ काफी मजबूत है। जब तक हमारे प्राइवेसी लॉ मजबूत नही होगें, मुझे नही लगता यह टेक्‍नोलॉजी इतनी असरदार हो पाएगी। बेशक हमारे देश में 2008 आईटी एक्‍ट हो, जिसमें हम साइबर लॉ जैसे कानून की मदद ले सकते है पर जब तक प्राइवेसी लॉ नही होगा यह टेक्‍नोलॉजी थोडी कमजोर ही रहेगी। टेक्‍नोलॉजी कमजोर होने का मुख्‍य कारण यह होगा कि इसको आसानीसे हैक भी किया जा सकता है।
यूएस और यूके जैसे देशों में अगर आपकी कोई भी प्राइवेट चीज लीक होती है तो उपभोक्‍ता को नही बल्कि एंटरप्राइस को कठघरे में खडा किया जाता है। इस बात से मुकरा नही जा सकता कि आने वाले समय में इस तरह की चीजें आम होने वाली है, जो कि जिंदगी को काफी सुखद बना देंगी। इसमें कोई संदेह नही है कि आने वाले कुछ सालों में स्‍मार्ट होम्‍स को लेकर लोगोंमें रुचि पैदा होगी और इस तरह के घर भविष्‍य की जरुरत बन जाएंगे।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें