A

2017-06-12

Aalu Aur Sakarkand(Sweet Potato) Ke Fayde

कहां आलू और कहां शकरकंद?

1.
2.
3.
4.
5.

एक तरफ पोटैटो(आलू) तो दूसरी तरफ स्‍वीट पोटैटो (शंकरकंद) दोनों है, तो एक ही प्रजाति के, लेकिन दोनों में काफी फर्क है। सिर्फ स्‍वाद ही नहीं, बल्कि सेहत के मामले में भी इनके गुण अलग है। अक्‍सर लोग दोनों को एक ही समझ बैठते है। कई शोध में यह बात सामने आई है कि आलू के अधिक सेवन से वजन बढता है, जबकि शकरकंद के साथ ऐसा नहीं है। सीनियर डाइटिशियन कहती है कि आलू में विटामिन सी एवं बी, पोटैशियम प्रचुर मात्रा में होता है, तो वही शकरकंद में मैग्‍नीशियम, फॉस्‍फोरस, आयरन और जिंक अधिक होता है1 आलू से हमें कार्बोहाइड्रेट स्‍टार्च के रूप में मिलता है, जिसका कुछ हिस्‍सा फाइबर की तरह काम करता है, इसलिए यह आंत के कैंसर से बचाता है। वहीं शकरकंद में कई प्रकार के एंटीऑक्‍सडेंटस पाए जाते है, जो फ्री रैडिकल्‍स से होने वाले नुकसान से बचाता है। आलू के तत्‍व हडिडयों को मजबूत बनाते है। अलावा इसका छिलका सेहत के लिए काफी अच्‍छा है। अगर हम प्रतिदिन दो-तीन आलू उबालकर छिलके सहित थोडे से दही के साथ खाएं, तो वह भी एक संपूर्ण आहार का काम करेगा। आलू को एक सब्‍जी के तौर पर इस्‍तेमाल करते है, जबकि शकरकंद को हमेशानाश्‍ते या कभी भी खाए जाने वाले आइटम के रूप में गिना जाता है। पथरी से संबंधित बीमारी होने पर आलू काफी लाभदायक है। अगर पथरी का रोगी कुछ दिन सिर्फ आलू खाएं और पानी अधिक पिए, तो पथरी आसानी से निकल सकती है। वहीं शकरकंद में ऊर्जा का खजाना होता है। पोषकतत्‍वों और स्‍वास्‍थ के लिहाज से शकरकंद आलू से भी अधिक फायदेमंद है। गहरे रंग की शकरकंद में कैरोटिनॉयड जैसे, बीटा-कैरोटीन और विटामिन-ए अधिक मात्रा में होता है। 

1.
2.
3.
4.
5.
यह कैरोटिनॉयड ब्‍लड शुगर को नियंत्रित करने के साथ-साथ हृदय रोग के लिए भी फायदेमंद होता है। 100 ग्राम शंकरेकंद में 400% से भी अधिक विटामिन-ए होता है। शकरकंद और आलू को अगर रोस्‍ट करके या फिर उबाल कर खाएं, तो दोनों में कैलोरी सामान्‍य मात्रा में मौजूद होती है। फैट और कोलेस्‍ट्रॉल कर मात्रा न के बराबर होता है। शकरकंद में  भरपूर मात्रा में आयरन होता है, जिसे हमारे शरीर को काफी ऊर्जा मिलती है। दोंनों में फाइबर होता है, जो कोलोरेक्‍टल कैंसर और पाचन संबंधी समस्‍या से छुटकारा दिलाता है। आलू हो या फिर शकरकंद, दोनों अगर सीमित मात्रा में खाएं, तो ही सेहत के लिए बेहतर होता है। मधुमेह रोगियों को शकरकंद बिल्‍कुल नहीं खाना चाहिए। हां, आलू चाहें,तो कम मात्रा में ले सकते है। जिन्‍हें कोलेस्‍ट्रॉलकी शिकायत है या वजन अधिक है, उनके लिए दोनों ही हानिकारक है।

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें