A

2017-07-31

Kaun Apse Jhooth Bolta Hain???

कौन आपसे झूठ बोल रहा है??

एक अध्‍ययन के अनुसार मानें तो प्रतिदिन हर व्‍यक्ति दो सौ बार झूठ बोलता है। आप कितनी बार झूठ बोलते है, इसके बारे में तो आप ही जानते होगे। हॉ, आपसे कौन, कब और कहां झूठ बोल रहा है, यह जानना चाहते है, तो कुछ बातों से सामने वालेका झूठ पकड सकते है। इसके लिए किसी काउंसलर की सलाह लेने की जरूरत नहीं। बस, सामने वाले के हाव-भाव पर ध्‍यान दें।उसके बात करने के तरीकों पर गौर करें। उसकी आखों को पढने की कोशिश करें। कुछ लोग इतनी होशि़यारी से झूठ बोल जाते है कि सामने वाले को पता तक नहीं चलता। हर किसी पर बेवजह शक न करने लग जाएं। झूठ बोलने वाले अपनी बात को छुपाने के लिए आंखों से आखें मिलाकर बात नहीं करते। उनके चेहरे पर एक डर का भाव नजर आता है। वे मन ही मन सोचते है कि कहीं उनकी पोल खुल न जाएं। झूठ पकडने के लिए सामने वाले की मुस्‍कुराहट पर गौर करें।सच्‍ची मुस्‍कुराहट होठों और आंखों से झलकती है, लेकिन झूठे शख्‍स की आंखों में मुस्‍कुराहट नहीं होती। बोलने की गति और सास की रफ्तारसे भी आप पहचान सकते है कि कौन आपसे झूठ बोल रहा है, क्‍योकि झूठ बोलते वक्‍त इन दोनों में बढोतरी होती है या फिर कमी नजर आती है। यदि किसी पर शक है, तो उससे बार-बार घुमा-फिरा कर सवाल करें। कई बार लोग सवालों का जवाब देने में इतने उलझ जाते है कि सच्‍चाई जुबान पर आ जाती है। यदि व्‍यक्ति बार-बार कर रहा है, तो समझ जाइएकि वह झूठा है। ऐसे व्‍यक्तित्‍व वाले लोगों में आत्‍मविश्‍वास की कमी पाई जाती है।  उसकी   

कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें