A

2017-10-02

Perfect Kaise Bane

किसी भी कार्य की योजना बना लेना ही काफी नहीं है। उसमें सफलता तब मिलती है, जब आप लगातार अभ्‍यास करेंगे। तभी आप उस कार्य में परफेक्‍ट होंगे।

प्रैक्टिस करेंगे, तभी बनेंगे परफेक्‍ट


किसी भी उद्देश्‍य को लेकर की गई प्‍लांनिंग आपको सफलता की ओर तभी ले जाती है, जब उससे संबंधित कार्यों की प्रैक्टिस की जाए। आपके पास क्षमता हो सकती है, आप प्रतिभावान हो सकते है, इसके बावजूद यदि आप अपने काम का अभ्‍यास नहीं करेगे, तो आपका प्रदर्शन उस हद तक नहीं जा सकता, जैसी आपकी अपेक्षा थी। यदि आप अपने काम में परफेक्‍ट होना चाहते है, तो प्रैक्टिस जरूरी है। किसी भी क्षेत्र में नजर दौडाए, चाहे वह स्‍टडी हो, डांस हो, स्‍पोर्ट्स हो, लेखन हो, परफेक्‍शन के लिए प्रैक्टिस की जरूरत होती है।

प्रैक्टिस से काम में विशेषज्ञता हासिल हेाती है और मंजिल की ओर कदम तेजी से बढने लगते है।

एक लक्ष्‍य निर्धारित करें। उसे पाने की सुव्‍यवस्थित योजना बनाएं। इससे अपनी गलतियों को जानेंगे ।

सफलता का मूल मंत्र


न तो बार की पढाई से कोई परीक्षा पास हो सकती है और न ही किसी कला में माहिर बना जा सकता है। कई बार शुरू में जिस काम को कनता बिल्‍कुल असंभव सा लगता है, लगातार प्रैक्टिस के बाद एसमें मासटरी हासिल हो जाती है। प्रैक्टिस एक ऐसा मंत्र है, जो हमारे शरीरिक और मानसिक दोनों के ही विकास के लिए फिट बैठता है।

सही जुनून सफलता की राह


जो भी काम करें, उसे जुनून के साथ करें। अपने से उच्‍च अपेक्षा रखें। आपने सपनों को पूरा करने के लिए भरपूर उमंग का साथ भी जरूरी है। स्‍वंय को दबाव में डालकर काम न करें। आप ऐसा काम न करें, जिससे आप कमजोर पड जाएं। जुनून हो पर आप आपनी दिनचर्या, अपनी आदत ऐसी बनाएं, जिससे आपको कोई कमजोरी या तनाव महसूस नहीं हो। तभी आप सफलता के करीब पहुंचेंगे। उन वजहों को जानने की कोशिश करें, जो आपको तनाव या दबाव दे रही है। फिर एसे दूर करने या सुधारने का प्रयत्‍न करें। इसके लिए खास योजनाएं बनाएं। उसी के अनुसार काम करें। आपको अपनी क्षमता और इच्‍छा के बीच तालमेल बनाएं रखना चाहिए।   
इस आधार पर ही अपने उद्देश्‍य तय करने चाहीए, ताकि आप जुनून से काम करें, न कि दबाव में। अपनी तुलना दूसरों से न करें। इससे तनाव महसूस होगा। याद रखें, आपका मुकाबला सिर्फ आपसे है। पहले अपनी सीमाएं समझें, परिस्थितियों के अनुसार अपनी योजनाएं बनाएं और फिर आगे बढने का प्रयास करें। अपना लक्ष्‍य उसी क्षेत्र में बनाएं, जिसमें आप अपनी पूरी योग्‍यता दिखा सकें।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें